विश्व तपेदिक दिवस मनाया गया

विश्व भर में प्रत्येक वर्ष 24 मार्च को तपेदिक दिवस या टीबी दिवस मनाया जाता है. इस दिन बीमारी के बैक्टीरिया की पहचान हुई थी. डा. रॉबर्ट कोच ने 24 मार्च 1882 को यह घोषणा किया था कि उन्होंने माइकोबैक्टीरियम टुबरोक्लोसिस का पता लगा लिया है, जो इनसानों में तपेदिक की बीमारी के लिए जिम्मेदार है. यही वजह है कि विश्वभर में 24 मार्च को ‘‘विश्व तपेदिक दिवस’’ के तौर पर मनाया जाता है. टीबी जैसी गंभीर बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के मकसद से यह दिवस मनाया जाता है. टीबी यानि क्षय रोग यह एक छूत का रोग है, जिसे प्रारंभिक अवस्था में ही न रोका गया तो जानलेवा साबित होता है. यह व्यक्ति को धीरे-धीरे मारता है.

विश्व मौसम विज्ञान दिवस हर वर्ष 23 मार्च को मनाया जाता है

विश्व जल दिवस हर वर्ष 22 मार्च को मनाया जाता है

हाल ही में, जारी विश्व खुशहाली सूचकांक में भारत को 144 स्थान मिला है

विश्व गौरेया दिवस हर वर्ष 20 मार्च को मनाया जाता है

अंतरराष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस (International Day of Happiness) हर वर्ष 20 मार्च को मनाया जाता है

हिलेल फुरस्टेनबर्ग - ग्रेगरी मारगुलिस 2 व्यक्तियों को हाल ही में, वर्ष 2020 के एबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है